शेखर सुमन और तेजस्वी की पीसी, बॉलीवुड है गैंगिज्म अखिर सुशांत को क्यों बदलने पड़े 50 सिम?

अभिनेता शेखर सुमन और तेजस्वी यादव ने आज सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान शेखर सुमन ने कई बड़े बयान भी दिए. उन्होंने कहा कि मैं सुशांत सिंह राजपूत को इंसाफ दिलाने की मुहिम से इसलिए जुड़ा क्योंकि वो बिहार का रहने वाला था.

कई सवाल हैं जिसके उत्तर चाहिए

उन्होंने कहा कि कई सवाल हैं जिसके उत्तर जनता को चाहिए. मैं उनके परिवार के दुख में शामिल हूं. पहला शाहरुख खान और 30 साल बाद सुशांत सिंह राजपूत था जिसने उस मुकाम को हासिल किया. उसकी पहली ही फिल्म 100 करोड़ के कल्ब में शामिल हुई थी.

बॉलीवुड में नेपोटिज्म नहीं गैंगिज्म 

साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म नहीं है बल्कि गैंगिज्म है. ये वेस्टिज इंटरेस्ट का गैंग है. लोग टैलेंट को दबा देते हैं. जो उनके तलवे चाटेगा वही इंडस्ट्री में रूक सकता है. सुशांत के मौत के मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए.

50 सिमकार्ड क्यों बदले

शेखर सुमन ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत अगर आत्महत्या करता तो सुसाइड नोट लिखकर जाता. आखिर ऐसी क्या समस्या थी कि उसे 50 सिमकार्ड बदलने पड़े. अगर वो कुर्त से फांसी लगाता तो अलग निशान होत. सुसाइड के बाद चेहरा खराब हो जाता है लेकिन उसके साथ ऐसा कुछ नहीं था. हमारी कोशिश है कि कोई दोबारा ऐसा किसी के साथ ना हो.

मैंने नीतीश कुमार से भी मिलने की कोशिश की

शेखर सुमन ने कहा, ‘मैंने नीतीश कुमार से भी इस सिलसिले में मिलने की कोशिश की लेकिन मुझसे कहा गया कि कोविड की वजह से वो किसी से नहीं मिल रहे हैं. तेजश्वी ने मुझसे मुलाकात की. तेजश्वी ने सुशांत के परिवार से भी जाकर मुलाकात की है. उन्होंने मुझे हर संभव मदद का भरोसा दिया है.’

तेजश्वी ने कहा- हर क्षेत्र में गैंगिज्म

तेजस्वी यादव ने भी सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु को लेकर बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि, हर व्यक्ति जानना चाहता है कि सच्चाई क्या है. सुशांत सिंह राजपूत के परिवार को न्याय मिलना चाहिए. मुंबई पुलिस जांच कर रही है लेकिन फेयर जांच की जरूरत है.

krishna hospital samastipur bihar

मेरे साथ भी हुआ भेदभाव

तेजस्वी यादव ने इस दौरान कहा कि मेरे साथ भी भेदभाव हुआ है. मैंने क्रिकेट खेला है, मेरा बैकग्राउंड सभी जानते हैं फिर भी मेरे साथ भेदभाव हुआ है. बिहार के सीएम नीतीश कुमार को उनके परिवार से मुलाकात करनी चाहिए और सीबीआई जांच की मांग करनी चाहिए.

शेखर सुमन का बड़ा बयान

शेखर सुमन ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा है कि उनका विधानसभा चुनाव लड़ने का कोई इरादा नहीं है.

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal