बिहार में कोरोना ने तोड़ा पुराना सारा रिकार्ड्स, एक साथ मिले 282 कोरोना पॉजिटिव, 9506 पहुंची कुल संक्रमितों की संख्या

बिहार में कोरोना बेकाबू रफ़्तार से बढ़ रहा है.लगता ही नहीं है कि कोई भी इसके संक्रमण से बच पायेगा.स्वास्थ्य विभाग की आज की रिपोर्ट के अनुसार राज्य में एक साथ 282 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं. इसके साथ राज्य में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 9506 पर पहुंच गई है. जिन जिलों में संक्रमण के मामले मिले हैं उसमें औरंगाबाद बेगूसराय और पटना भी शामिल है.

पटना में कोरोना ने एक साथ अबतक का सबसे बड़ा रिकार्ड बनाया है. पटना के पालीगंज के साथ जिले में एक साथ 85 नए पॉजिटिव मामले मिले है जिसमें 13 मामले पालीगंज के बाहर पटना सिटी, पटना शहर , मसौढ़ी और बाढ़ के है.

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में विवार तक 2 लाख 5 हजार 832 सैम्पल की जांच हो चुकी है.पिछले 24 घंटे में कुल 7447 सैम्पलों की जांच की गई. वहीं, राज्य में अभी कोरोना के 1900 से ज्यादा एक्टिव मरीज हैं जिनका इलाज अस्पतालों में डॉक्टरो की निगरानी में किया जा रहा है.

बिहार का रिकवरी रेट 78 तो देश का 58%: बिहार में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने का प्रतिशत भी राष्ट्रीय औसत से काफी बेहतर है. बिहार में रिकवरी रेट 78.5 जबकि देश का यह 58.5% है। देश के स्तर पर कोरोना संक्रमित मृतकों का प्रतिशत तीन है, जबकि बिहार में यह 0.7 प्रतिशत है. कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेज रफ़्तार से देश में बढ़ रहा है.बिहार भी बेहाल है.अब कोरोना के नए लक्षण भी सामने आ रहे हैं.

krishna hospital samastipur bihar

अबतक अमूमन बुखार, सांस लेने में परेशानी, सूखी खांसी और थकावट जैसे शारीरिक बदलावों को ही कोरोना वायरस का लक्षण माना जाता था. लेकिन कोरोना संक्रमण पर काम कर रही अमेरिका की मेडिकल संस्था सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन ने तीन नए शारीरिक लक्षणों को कोराना वायरस का संभावित संकेत माना है.कोरोना संक्रमण के ये तीन नए लक्षण हैं- नाक बहना, उबकाई आना और डायरिया.

Avinash Roy

Editor-in-Chief at Samastipur Town Web Portal