इवांका ट्रंप भी दरभंगा की बेटी ज्योति की मुरीद, 1200 KM साइकिल चला पिता को ले गई थी गांव

कोरोना वायरस के कारण देश में लागू लॉकडाउन के बीच अपने पिता को साइकिल पर बिठाकर गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा जाने वाली ज्योति कुमारी सुर्खियों में है.

बिहार की इस लड़की की चर्चा सात समंदर पार भी होने लगी है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने अब ज्योति कुमारी को लेकर ट्वीट किया है. उन्होंने ट्विटर पर ज्योति कुमारी की खबर को शेयर किया है और भारतीयों की सहनशीलता को सराहा है.


उन्होंने ट्वीट किया कि 15 साल की ज्योति कुमारी ने अपने जख्मी पिता को साइकिल से सात दिनों में 1,200 किमी दूरी तय करके अपने गांव ले गई. इवांका ने आगे लिखा कि सहनशक्ति और प्यार की इस वीरगाथा ने भारतीय लोगों और साइकलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है.

गौरतलब है कि ज्योति के पिता गुरुग्राम में रिक्शा चलाते थे और उनके दुर्घटना का शिकार होने के बाद वह अपनी मां और जीजा के साथ गुरुग्राम आई थी और फिर पिता की देखभाल के लिए वहीं रुक गई. इसी बीच कोविड-19 के कारण लॉकडाउन की घोषणा हो गई और ज्योति के पिता का काम ठप पड़ गया. ऐसे में ज्योति ने पिता के साथ साइकिल पर वापस गांव का सफर तय करने का फैसला किया.

krishna hospital samastipur bihar

साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने दिया ऑफर

ज्योति को साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (सीएफआई) ट्रायल का मौका देगा. सीएफआई फेडरेशन 15 साल की ज्योति को अगले महीने ट्रायल के लिए बुलाएगा. साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के चेयरमैन ओंकार सिंह ने गुरुवार को बताया कि अगर ज्योति ट्रायल पास करती है, तो उसे दिल्ली स्थित आईजीआई स्टेडियम परिसर में अत्याधुनिक नेशनल साइकिलिंग अकादमी में ट्रेनी के रूप में चुना जाएगा.

15 साल की ज्योति लॉकडाउन में अपने पिता मोहन पासवान को साइकिल पर बिठाकर 1200 किमी की दूरी सात दिनों में तय करके गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा पहुंच गई थी. ज्योति ने रोजाना 100 से 150 किमी साइकिल चलाई.

तीन बहन और दो भाइयों के बीच दूसरे नंबर की संतान ज्योति ने कहा कि वह पढ़ाई छोड़ चुकी हैं, लेकिन अगर मौका मिलता है तो दोबारा पढ़ाई करना चाहती हैं. ज्योति ने कहा कि मैं पढ़ाई छोड़ चुकी हूं, लेकिन अगर मौका मिला, तो मैं दोबारा पढ़ाई शुरू करना चाहती हूं.

Avinash Roy

Chief in Editor at Samastipur Town Web Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *